कार में अगवा हुई चिल्लाती युवती की किडनेपिंग की कोशिश हुई नाकामियाब।

 

देश की राजधानी की सड़कों पर चलती कार में चीखती चिल्लाती रही युवती और उसके साथ मनचले करते रहे गलत हरकत । मामला दिल्ली के रोहिणी का है जहां एक कार में कुछ युवक एक युवती के साथ जबरदस्ती करने की कोशिश करते रहे और लड़की की चीख सुनकर सड़क पर अपनी कार में बैठे दो युवकों ने पीछा कर कार को रोका उसके बाद हुआ जमकर हंगामा ओर गुस्साई भीड़ ने मनचलों की कार को तोड़फोड़ के बाद आग लगा दी । पब्लिक ने 2 मनचलों को पकड़कर पुलिस के हवाले किया, पुलिस जांच में जुटी ।
तस्वीरों में धु धु कर जलती इस कार का ये नज़ारा है दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 20-21 की सड़क का जहाँ शनिवार रात को यहां से गुजरी रही एक एक्सेंट कार में से एक लड़की के चीखने की आवाज सुनकर वहां अपनी कार में बैठे दो युवकों ने अपनी कार उस एक्सेंट कार के पीछे दौड़ा दी ओर ओवरटेक कर उस कार के आगे लगाकर उसे रोक लिया जिसके बाद अकसेंट में बैठे 3 युवक उन दोनों लोगो से झगड़ने लगे। ओर देखते ही देखते वहां भीड़ जमा हो गयी और सबने देखा कि इन मनचलो की कार में एक युवती बदहवास सी पड़ी है जिसके बाद मामले की सच्चाई समझते लोगो को देर नहीं लगी कि मामला अपहरण और छेड़छाड़ का है । बस फिर क्या था पहले तो पब्लिक ने मनचलो की जमकर पिटाई कर दी। और फिर गुस्साई भीड़ ने उनकी कार में तोड़फोड़ के बाद उसे आग के हवाले कर दिया। 3 मनचलों में से एक युवक वहां से भागने में कामियाब रहा जबकि बाकी दोनों आरोपी मनचलों को पब्लिक ने सूचना के बाद मौके पर पहुँची पुलिस के हवाले कर दिया। जिसके बाद पुलिस उन्हें बेगम पुर थाने ले गयी ।

घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीद लोगों ने बताया कि जब युवती कार से चिल्ला रही थी तो वहीं पर पुलिस की पीसीआर वैन भी खड़ी थी लेकिन उन्होंने उस गाड़ी का पीछा करने की ज़रा भी ज़हमत नही उठाई। और न ही मौके पर पहुँची पुलिस ने आरोपियों से कोई पूछताछ की। पुलिस के इस रैवये से स्थानीय लोगो मे खासी नाराज़गी है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जब उन्होंने कार में मौजूद पीड़ित युवती से पूछा तो उसने बताया कि इन मनचलों ने उसे शाम करीब 7:30 बजे मंगोल पूरी इलाके से जबरन अपनी कार में बैठा लिया था और कई घंटे से ये मनचले उसे जबरदस्ती अपनी कार में लेकर घूम रहे हैं और उसके साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं। लेकिन यहां आकर उसके चीखने की आवाज़ सुनकर लोगो ने उसे इन हैवानों से छुड़वाया है। सही समय पर इन दोनों लोगो ने सूझबूझ दिखाते हुए मनचलों की कार का पीछा किया और इन्हें धर दबोचा। और युवती के अपहरण की योजना को नाकाम कर दिया।

घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुँची दिल्ली पुलिस की पीसीआर के पुलिस कर्मियों से जब पुलिस की अनदेखी औऱ चश्मदीदों के आरोपो के विषय मे पूछा गया तो उन्होंने इस बाबत तो कुछ नही कहा। पर घटना के विषय मे जानकारी देते हुए बताया कि कॉल मिलते ही हम मोके पर पहुँचे हैं पर पब्लिक ने हमारे आने से पहले ही कार को आग लगा दी। क्योंकि ये मनचले एक युवती को जबरन अपनी कार में ले जा रहे थे। साथ ही अब पब्लिक ने आरोपियों को पकड़ कर हमें सौंप दिया।

पुलिस की शुरवाती जांच में सामने आया कि पीड़ित लड़की को मंगोल पूरी इलाके से अगवा किया गया था इसलिए अपनी सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद बेगम पुर थाना पुलिस ने ये मामला मंगोल पूरी पुलिस को सौंप दिया जिसके बाद अब मंगोल पूरी थाना पुलिस प्राथमिक उपचार के बाद दोनों आरोपियों को गिफ्तार कर लिया है औऱ मामले की गंभीरता को समझते हुए गहनता से तफ़्तीश कर रही है साथ ही ये भी पता लगाने में जुट गई है कि आखिर मामले की असली सच्चाई क्या है । लेकिन जिस तरह से दोनों युवकों ने बहादुरी दिखाते हुए अपनी सूझबूझ का परिचय दिया है वो सच मे काबिले तारीफ है। और इनके इस कारनामे ने न सिर्फ एक महिला को बचाया है बल्कि पुलिस की आंख और कान बनने का भी काम किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *