दिल्ली के बादली में मिली सर कटी लाश की गुत्थी को पुलोस ने चंद घंटो में सुलझाया

पुलिस की गिरफ्त में खड़े ये तीनों अपराधी कोई भी पेशेवर बदमाश नहीं है बल्कि मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करने वाले एक आम लोग हैं। लेकिन आज ये तीनों अपने ही एक पड़ोसी की हत्या के आरोप में पुलिस की गिरफ्त में हैं पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन तीनो ने अपने पड़ोस में रहने वाले जावेद नाम के 25 वर्षीय युवक की गर्दन काट कर हत्या कर दी। रोहिणी जिले के डीसीपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक जावेद इन तीन आरोपियों में से एक की बीवी तथा दूसरे की बहन से गलत संबंध बनाना चाहता था जिसकी भनक इन लोगों को लग चुकी थी जिसको लेकर इन तीनो आरोपियों ने कई बार मृतक जावेद को समझाने की कोशिश की लेकिन जब वह नहीं माना। जिसके बाद आखिरकार इन्होंने जावेद की हत्या की साजिश ही रच डाली। और बड़े ही वेशियाना तरीके से एक सोची समझी साजिश के तहत पहले मृतक जावेद को उसके घर से बुलाया और फिर साथ में बैठकर खेतों में शराब पी जिसके बाद जब उसे समझाने के दौरान ही जावेद उनसे झगड़ा करने लगा तो मौका देखकर उन्होंने जावेद गर्दन को धड़ से अलग कर उसे मौत के घाट उतार दिया।


इस सनसनीखेज हत्याकांड से एक तरफ जहां पूरे इलाके में दहशत का माहौल था, वहीं दूसरी तरफ हत्यारों ने मृतक के धड़ से सर को अलग कर कहीं दूर दूसरे खेत में सिर्फ इसलिए फेंक दिया ताकि उसकी पहचान ना हो सके और पुलिस इस हत्या की गुत्थी को कभी सुलझा पाए। लेकिन पुलिस ने भी पूरे मामले की गंभीरता को समझते हुए तुरंत कभी टीमें गठित की और वारदात के चंद घंटों में इस पूरे मामले की गुत्थी को सुलझा लिया । पुलिस के अनुसार मृतक जावेद रविवार की शाम तकरीबन 8:00 बजे से अपने घर से यह कहकर निकला था कि वह अपने किसी दोस्त से मिलने जा रहा है और उसके बाद वह फिर कभी अपने घर वापस नहीं लौटा पुलिस ने बताया कि सर कटी लाश मिलने के बाद से ही इस केस को सुलझाना उसके लिए भी एक टेढ़ी खीर था आठ ही पुलिस के पास कोई खास सुराग भी नहीं थे लेकिन आखिरकार पूछताछ के बाद पुलिस ने कड़ियों को जोड़ते हुए अपराधियों को गिरफ्तार कर ही लिया। रोहिणी जिले के डीसीपी ने बताया कि इन आरोपियों में से एक जिसका नाम रंजीत है वह पुलिस के सामने मौके पर भी आया और यह देखने लगा कि आखिर पुलिस किस तरफ और क्या कार्रवाई कर रही है साथ ही वह मृतक के परिवार को भी सांत्वना देता रहा और इसी दौरान दूसरी तरफ वह अपने दूसरे साथियों को पूरे मामले की जानकारी भी देता रहा।
बरहाल पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद इन सभी आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है। और अब बादली थाना पुलिस बचे हुए 1 अन्य आरोपी को भी तलाश कर रही है। लेकिन इस घटना ने साफ कर दिया है कि कई बार ऐसी परिस्थितियों में फंसकर एक आम आदमी भी बिना कुछ सोचे समझे बदले की भावना में ऐसे संगीन ओर जघन्य अपराध कर बैठता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *