दिल्ली के रोहिणी में 5 वर्षीय मासूम के साथ दरिंदगी, आरोपी गिरफ्तार ।

 

देश की राजधानी दिल्ली एक बार फिर हुई शर्मसार …एक बार फिर मासूम को बनाया हवस का शिकार … टीचर के किया 5 साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार … स्पीच थेरपी टीचर ने सेंटर के कमरे में दिया वारदात को अंजाम …पुलिस ने पोस्को के तहत मामला दर्ज कर आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है ।
रोहिणी के एक निजी स्पीच थेरेपी इंस्टिट्यूट में पांच साल की बच्ची से यौन शोषण का मामला सामने आया है… आरोप स्पीच थेरेपी कराने वाले शिक्षक पर है…जिसने गुरु और छात्र के पवित्र और सम्मानीय रिश्ते को तार तार कर दिया है । बच्ची ने इशारे से एक महिला शिक्षक को इस बारे में बताया, जिसके बाद वारदात का खुलासा हुआ और पुलिस ने इस बाबत पॉक्सो के तहत मामला दर्ज कर आरोपी 30 वर्षीय हरि रामकुमार को गिरफ्तार कर लिया है.. प्राप्त जानकारी के अनुसार 5 वर्षीय वर्षा (बदला हुआ नाम) परिवार सहित रोहिणी सेक्टर 24 में रहती है.. बच्ची ठीक से बोल नहीं पाती..इसलिए परिजनों ने उसे स्पीच थेरेपी इंस्टीट्यूट भेजना चाहा.. उन्होनें रोहिणी सेक्टर 9 के एक नामी इंस्टिट्यूट जिसका नाम साई स्पर्श है से संपर्क किया, जिसके बाद परिजनों ने बच्ची को वहाँ ले जाना शुरु कर दिया था । परिजनों ने पुलिस को बताया कि वहाँ बच्ची को एक कमरे में स्पीच थेरेपी के लिए ले जाते थे..वह बाहर उसके लौटने का इंतज़ार करते थे…बीते शुक्रवार को भी बच्ची थेरेपी के लिए गयी थी.. अंदर से जब वह लौटी तो उसने पेट के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत की…लेकिन परिजन ठीक से उसकी बात को नहीं समझ सके…शनिवार को उसे लेकर वह जब इंस्टिट्यूट पहुंचे तो वहाँ एक महिला शिक्षक को उसने बताया कि उसके साथ शुक्रवार को क्या हुआ… उसके इशारों को समझकर महिला शिक्षक ने यह जानकारी उसकी माँ को दी… जिसके बाद बच्ची के परिजनों ने बेगमपुर थाने जाकर मामले की शिकायत पुलिस से की। वहां पुलिस को पता चला कि बच्ची के निजी अंग से थेरेपिस्ट ने छेड़छाड़ की है। इस जानकारी पर पुलिस ने पहले मामला दर्ज किया और फिर इंस्टिट्यूट पर छापा मारकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया…
इस पूरे मामले में सामाजिक लोक लज्जा के कारण परिवार ने कैमरे पर बोलने से मना कर दिया है ।
आरोपी टीचर मूल रूप से बिहार का रहने वाला जिसका नाम हरि राजकुमार है जोकि बीते 5 साल से रोहिणी सेक्टर 9 में इंस्टीट्यूट चला रहा था…पुलिस सूत्रों ने बताया कि बच्चों को स्पीच थेरेपी करवाने के दौरान एक पुरुष थेरेपिस्ट और एक महिला शिक्षक रहती थी…लेकिन शुक्रवार को किसी कारण से महिला शिक्षक वहां मौजूद नहीं थी…इसका फायदा उठाकर आरोपी ने बच्ची से यौन शोषण कर इस घिनोनी वारदात को अंजाम दिया ।
मामला सामने आने के बाद आरोपी सलाखों के पीछे तो पहुँच गया है लेकिन इस घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया है और साथ ही कई सवाल खड़े कर दिए है कि आखिर कब तक मासूम बच्चियों के साथ ऐसी घिनौनी वारदाते होती रहेंगी …??आखिर क्यों बच्चे घर और शैक्षिक संस्थान में भी सुरक्षित नहीं है …???आखिर समाज में फ़ैल रही बच्चियों के प्रति अपराधिक मानसिकता कब ख़त्म होगी …????
बरहाल बेगम पुर थाना पुलिस ने पोक्सो की धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया है और माननीय कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *