महापौर से मिले मार्किट अस्सोकेशन

झिल्मिल औद्योगिक क्षेत्र, विश्वास नगर, फ्रेण्डस् काॅलोनी औद्योगिक क्षेत्र और पटपड़गंज औद्योगिक क्षेत्र, जगतपुरी, मयूर विहार के उद्यमी विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल, महापौर पूर्वी दिल्ली नगर निगम  नीमा भगत, स्टैंडिग केमटी के चेयरमैन प्रवेश शर्मा, नेता सदन संतोष पाल और पूर्व उपमहापौर महेन्द्र आहूजा से मिले। उद्यमियों ने ईडीएमसी द्वारा एमवीसी-3 के नाम पर 500ः से 1643ः तक बढ़ायेे गये प्रोपर्टी टैक्स के खिलाफ अपना विरोध दर्ज करवाया। महापौर पूर्वी दिल्ली नगर निगम नीमा भगत और स्टैंडिग केमटी के चेयरमैन ने उद्यमियों को भरोसा दिलाया कि भारतीय जनता पार्टी व भारतीय जनता पार्टी शासित पूर्वी दिल्ली नगर निगम किसी भी शर्त पर प्रोपर्टी टैक्स बढ़ने नहीं देगें।

पटपड़गंज एसोसियेशन के महासचिव और दिल्ली फैक्ट्री आनर्स फैडरेशन के संयुक्त सचिव एस.के.माहेश्वरी ने बताया कि यह ठीक है कि ईडीएमसी के पास आर्थिक संकट है, लेकिन यह कहां तक ठीक है कि ईडीएमसी इसके लिये उद्यमियों का गला घोट दे। इसके लिये दिल्ली सरकार ईडीएमसी को फंड तुरंत जारी करे ताकि ईडीएमसी अपने फंड की समस्या के लिये उद्यमियों का गला न घोटे व अनावयक दबाव न बनाये।
पटपड़गंज एसोसियेशन के प्रधान संजय रस्तौगी ने कहा कि हम किसी भी कीमत पर उद्यमियों का प्रोपर्टी टैक्स बढ़ने नहीं देगें। सभी उद्यमी पूरजोर तरीके से इसका विरोध करते हैं, क्योंकि यह पूरी तरह से गलत है।
मौके पर उपस्थ्ति पूर्व उपमहौपर महेन्द्र आहूजा ने कहा कि क्षेत्र के उद्यमियों हितों की रक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है और उद्यमियों के उपर दिल्ली सरकार के दबाव में बढ़ाये गये प्रोपर्टी टैक्स को हम किसी भी कीमत पर बढ़ने नहीं देगें और इसको वापस करवाना हमारा संकल्प है।


पूर्व प्रधान एस.एन.मित्तल ने कहा कि एक उद्यमी ही है जो सबसे ज्यादा टैक्स देने के साथ-साथ सबसे ज्यादा रोजगार के अवसर पैदा करता है व देश के जीडीपी में सबसे ज्यादा योगदान करता है, तो क्यों उसे ही हर बार प्रताड़ित किया जाता है।
स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन प्रवेश शर्मा ने कहा कि मैं उद्यमियों के दर्द को बहुत अच्छी तरह से जानता हूँ और बढ़े हुये प्रोपर्टी टैक्स को रोकना हमारा संकल्प है। इतना भारी टैक्स लगाने से टैक्स की रिकवरी तो खत्म हो ही जायेेगी, बल्कि इसके साथ-साथ उद्यमी पलायन करके अन्य क्षेत्रों में चले गये जो जीएसटी और अन्य टैक्सों के रूप में नुकसान तो होगा ही होगा, भारी बेरोजगारी भी फैलेगी।
इसके बाद सभी उद्यमियों ने मेयर ईडीएमसी श्रीमती नीमा भगत से बढ़े हुये प्रोपटी टैक्स के मुद्दे पर उनसे अपना पक्ष रखा, उद्यमियों ने साफ कहा कि यह बढ़ा हुआ प्रोपर्टी टैक्स हम किसी भी कीमत पर जमा नही करेंगें। मेयर नीमा भगत ने उद्यमियों की बात पूरी तसल्ली से सुना और समझा। मेयर नीमा भगत ने कहा कि यह मुद्दा मेरी प्राथमिकता में नम्बर-1 पर है और अगले सप्ताह तक इसका समाधान हो जायेगा और इसके लिये दिनांक 12.01.2018 को दोपहर 12 बजे पूर्वी दिल्ली नगर निगम के बड़े अधिकारियों की मीटिंग पूर्वी दिल्ली के सभी औद्योगिक एसोसियेशन के पदाधिकारियों के साथ मीटिंग करके इस समस्या का हल निकालेंगे।
इस मौके पर पटपड़गंज के प्रधान संजय रस्तौगी, महासचिव एस.के.माहेश्वरी, एस.एन.मित्तल, झिलमिल सीईटीपी के प्रधान राकेश बंसल, परमजीत सिंह, अनिल गुप्ता, हरीश मनचंदा, मयूर विहार के रूपेन्द्र गोयल, जगतपुरी से यतिन्दर शर्मा, मोहन गुप्ता पटपड़गंज के वरिष्ठ सचिव सुनील पुरी, वित्त सचिव ओ.पी. शर्मा, दीपक कुमार, तारा चंद, रवि चड्डा, ओ.पी.मित्तल, डी.के.जैन, विनित अग्रवाल, के.आर.मिश्रा, भूपेश शर्मा आदि सैकड़ों की संख्या में उद्यमी उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *