सुबह का नाश्ता कैसा होना चाहिए

सुबह नाश्ते में पौष्टिक चीजें शामिल करनी चाहिए जिसमे प्रोटीन , विटामिन , खनिज , कार्बोहाइडेट तथा फाइबर का अच्छा मेल हो।

— दूध , दही , छाछ ले सकते है। ये फुल फैट युक्त ना हो। दही से रायता बना कर खाये।
— छाछ के साथ बाजरे की राबड़ी या जौ की राबड़ी अच्छे विकल्प है।
— पोहा
— उपमा
— इडली
— अंकुरित चने , मूंग या अंकुरित अनाज
— खमन ढ़ोकला
— आजकल ओट्स का बहुत चलन है। बाजार के कई प्रकार के ओट्स मिलने लगे है। इन्हें ले सकते है।
— कॉर्न फ्लेक्स और दूध अच्छा नाश्ता है।
— ड्राई फ्रूट्स , मेवे
— दलिया , खिचड़ी
— हर मौसम में अलग फल आता है। खट्टे फल के अलावा दूसरे फल नाश्ते में शामिल किये जा सकते है।
— फलों से बने शेक या सलाद आदि बना कर नाश्ते में ले सकते है।
— व्हीट ब्रेड या इससे बने सैंडविच
— ब्राउन राइस

सर्दियों के मौसम में आयुर्वेदिक पौष्टिक नाश्ते बना कर अवश्य खाने चाहिए। ये बहुत लाभदायक होते है तथा पूरे वर्ष भर इनका फायदा शरीर को मिलता रहता है।
सुबह के नाश्ते में क्या नहीं लें – Breakfast me na le

जैसा की अब हमें पता है कि सुबह का नाश्ता पौष्टिक होना चाहिए इसलिए अधिक तेल-घी से बना , तला हुआ , तेज मिर्च मसाले वाला तथा मैदा से बना हुआ नाश्ता ना लें। बाजार में मिलने वाले कचोरी , समोसा , बर्गर , पकौड़ी , भुजिया , नमकीन आदि नुकसान दे सकते है। घर पर भी रोजाना नाश्ते में ढेर सारा घी डालकर कर बनाये गए पराठे , पूरी या चाट पकौड़ी आदि से नुकसान हो सकता है। पेस्ट्री , कोल्ड ड्रिंक , डिब्बा बंद ( रेडी टू ईट ) खाना , सफ़ेद ब्रेड ,ज्यादा बटर , आलू की चिप्स , पिजा , बर्गर , मैदा से बने बिस्किट , मैदा से बने बेकरी आइटम आदि ना ही लें तो अच्छा है।

विकल्प बहुत सारे है। पौष्टिक नाश्ता करने की आदत डाल लीजिये और स्वस्थ रहिये..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *