हिंसक हुआ भारत बंद, बिहार में गोलीबारी, कई शहरों में धारा 144 लागू

भारत बंद

भारत बंद

दो अप्रैल को दलितों के भारत बंद के खिलाफ अाज अारक्षण विरोधियों की तरफ से भारत बंद का अह्वान किया गया है। देश के कई राज्यों में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए हैं। इस प्रदर्शन ने हिंसा का रुप ले लिया है।

बिहार में गोलीबारी

आरा नगर थाने में आनंदनगर इलाके में बंद समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसक झड़प हो गई। इस दौरान दोनों तरफ से फायरिंग की जा रही है।वहीं हाजीपुर में केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा जाम में फंस गए। बंद समर्थकों ने केंद्रीय मंत्री से बदसलूकी भी की। ये घटना हाजीपुर के शुभाई की है।

बिहार के गया जिला में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैसे के गोले छोड़े। दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया गया।

नौकरियों और शिक्षा में जाति आधारित आरक्षण के विरोध में में बिहार के आरा में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए हैं। आरा में 2141 डाउन लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस व 509 अप पैसेंजर ट्रेन को रोका दिया गया है। इससे बिहिया में शटल व रघुनाथपुर में पटना-कुर्ला एक्सप्रेस ट्रैक पर ही खड़ी है। वहीँ जहानाबाद में भी सुबह बंद समर्थकों ने पटना गया नेशनल हाइवे 83 को बंद करा दिया है।  उधर, सीतामढ़ी जिले के रुन्नीसैदपुर टोल प्लाजा के पास ट्रक एनएच 77 पर लगाकर भारत बंद के दौरान रोड को जाम किया गया. NH पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह ठप है.

राजस्थान में स्कूल बंद

आरक्षण के विरोध में झलावार में बाजार बंद किया गया। प्रदर्शनकारियों ने एक बाइक रैली आयोजित की।राजस्थान के जयपुर में भी धारा 144 लागू है और आधी रात से इंटरनेट सेवा बंद पर रोक लगा दी गई है। बंद की वजह से ज्यादातर स्कूल नहीं खुलेंगे। वहीं झालावाड़ में बंद को प्रशासन ने भ्रामक बताया है।

यूपी में हाई अलर्ट

यूपी के मेरठ जोन के 6 जिलों में हाई अलर्ट है। गाजियाबाद, इलाहाबाद में धारा 144 लागू है तो वहीं सहारनपुर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। फिरोजाबाद में पहली से 9वीं कक्षा तक के स्कूल को बंद किया गया है।

हापुड़ में इंटरनेट सेवा पर रोक

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने गृह मंत्रालय की एडवाइजरी पर कदम उठाने भी शुरू कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि यूपी के हापुड़ में सोमवार शाम 6 बजे से मंगलवार शाम 6 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है। 10 अप्रैल को भारत बंद बुलाए जाने को देखते हुए जिला मजिस्ट्रेट ने यह आदेश जारी किया है।

भोपाल में धारा 144

भोपाल के कमिश्‍नर ने भारत बंद को देखते हुए कल(मंगलवार) शहर में धारा 144 को लगाने का आदेश दिया है। हालांकि इस दौरान स्कूल खुले रहेंगे और 6000 पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे। पुलिस विभाग सोशल मीडिया पर नजर रखेगा और अफवाहों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

2 अप्रैल के भारत बंद में 11 लोगों की मौत

बता दें कि इससे पहले दलित संगठनों ने 2 अप्रैल को भारत बंद बुलाया था। दलितों के इस प्रदर्शन ने हिंसा का रूप ले लिया था। इस प्रदर्शन में 11 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी। पिछली बार की तरह इस बार कोई बड़ी घटना ना हो इसलिए केंद्र सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद करने और हिंसा रोकने के लिए सभी राज्यों के लिए परामर्श जारी किया है। गृह मंत्रालय ने कहा कि अपने इलाकों में होने वाली किसी भी हिंसा के लिए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे।

गृहमंत्रालय ने दिए निर्देश

गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोशल मीडिया पर जाति के आधार पर आरक्षण के खिलाफ ओबीसी और जनरल वर्ग के कई संगठनों ने मंगलवार को भारत बंद का आह्वान किया है। सोशल मीडिया पर इसका प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वाट्सएप पर इस मैसेज को खूब शेयर किया जा रहा है और लोगों से भारत बंद का समर्थन करने की अपील की जा रही है।

इसे देखते हुए सभी राज्य सरकारों को सुरक्षा चाक चौबंद करने और हिंसा रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है। इसके तहत संवेदनशील स्थानों पर गस्त बढ़ाना और बंद के दौरान उत्पात की आशंका वाले जगहों पर पुलिस बल की तैनाती शामिल है। गृहमंत्रालय ने राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि इस दौरान किसी तरह की जान-माल का नुकसान नहीं होना चाहिए। यदि किसी क्षेत्र में ऐसा होता है, तो उसके लिए सीधे तौर पर उस इलाके के एसएसपी और डीएम को जिम्मेदार माना जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *