दिल्ली और पंजाब में आम आदमी पार्टी में बगावत हुई है।

हालांकि राष्ट्रपति चुनाव गोपनीय वोटिंग से हुआ है लेकिन यह तय है कि दिल्ली और पंजाब में आम आदमी पार्टी में बगावत हुई है। बगावत करने वालों ने साफ जता भी दिया है कि उन्होंने बगावत की है। हालांकि पार्टी के चीफ अरविंद केजरीवाल ने अपनी पार्टी के सांसदों और एमएलए से कहा था कि वे विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार के समर्थन में वोट दें लेकिन ऐसा हुआ नहीं है।….आम आदमी पार्टी को एक झटका तो उसके बागी नेता कपिल मिश्रा ने ही दिया है। कपिल मिश्रा विधानसभा में वोट करने आए। उन्होंने कहा कि मैंने वोट डाल दिया हैजो व्यक्ति अगले राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगेउन्हें वोट करके आया हूं। मैंने वोट सही जगह किया है। कपिल मिश्रा के इस बयान से साफ हो जाता है कि उन्होंने एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को ही वोट दिया है। दरअसलदिल्ली में आम आदमी पार्टी के 65 एमएलए हैं। हालांकि आप के 67 एमएलए जीते थे लेकिन राजौरी गार्डन सीट आप हार चुकी है और बवाना से आप के एमएलए ने इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल होने की घोषणा कर दी थी। वह सीट अभी खाली पड़ी है। कपिल मिश्रा के अलावा तीन और एमएलए भी आप से सस्पेंड हैं। वे हैं कर्नल बिजवासन से देवेन्द्र सहरावत,मटिया महल से असीम अहमद खान और तिमारपुर से पंकज पुष्कर। इन एमएलए के बारे में भी किसी को तय नहीं है कि वे मीरा कुमार को ही वोट देंगे।….इसके अलावा पंजाब में आम आदमी पार्टी के एमपी और 20एमएलए हैं। यह माना जा रहा है कि वहां भी बगावत के आसार हैं। पंजाब में विपक्ष के नेता एच.एस. फुल्का ने भी हाईकमान के आदेश को न मानने का पहले से ही ऐलान कर दिया है। इसके अलावा भी कई एमएलए हैं जो एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट डाल सकते हैं।दिल्ली में ओल्ड सेक्रेट्रिएट में सुबह10 बजे से शुरू हुए वोटिंग शुरू हुई। उस समय भारी बारिश हो रही थी। सीएम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पहले वोट डालने वालों में शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *