सबसे बड़े संवैधानिक पद यानी देश का नया राष्ट्रपति चुनने के लिए सोमवार को होने वाले चुनाव

देश के सबसे बड़े संवैधानिक पद यानी देश का नया राष्ट्रपति चुनने के लिए सोमवार को होने वाले चुनाव की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। इस चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच सीधा मुकाबला है। राष्ट्रपति चुनाव के वोटों की स्थिति देखी जाए तो विपक्ष की मीरा पर एनडीए के उम्मीदवार राम यानी रामनाथ नाथ कोविंद का पलड़ा भारी है। कोविंद को एनडीए के अलावा जेडी यूबीजू जनता दलअन्ना डीएमकेटीआरएस समेत सहित कई छोटी पाटियों का भी समर्थन मिलता दिख रहा हैजबकि कुमार के पक्ष में कांग्रेस के अलावा 16 और पार्टियों का समर्थन मिला है।   

कोविंद को उम्मीदवार बनाकर मोदी ने विपक्ष में भी दरार पैदा कर दी। खासतौर पर बिहार में महागठबंधन की सरकार की अगुवाई कर रहे जेडी यू ने कोविंद को समर्थन देने का फैसला किया। राष्ट्रपति चुनाव के लिए संसद भवन के अलावा सभी राज्यों के विधानमंडलों में वोटिंग सुबह 10बजे से शाम बजे तक होगी। सांसदों के बैलेट पेपर हरे रंग के और एमएलए के बैलेट पेपर गुलाबी रंग के हैं। वोटों की गिनती 20जुलाई को सुबह 11 बजे शुरू होगी। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का कार्यकाल 24जुलाई को खत्म हो रहा है। नए राष्ट्रपति 25जुलाई को अपना पद भार संभालेंगे।  राष्ट्रपति चुनाव में कुल वोट के 48 फीसदी वोट आरजेडी के पास हैं। इनमें से 40फीसदी वोट केवल बीजेपी के है। बाकी समर्थक पार्टियों के कुल मिलाकर 14फीसदी वोट हैं। ऐसे में कोविंद के पक्ष में 62फीसदी से ज्यादा वोट हैंजबकि कांग्रेस और उसके सहयोगियों के पास महज 34फीसदी वोट हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *