कई राज्‍यों में आंधी-तूफान का कहर, 38 की मौत

Tufan

चार धाम यात्रा बाधित

राजस्थान के अलवर, भरतपुर और धौलपुर जिलों में बुधवार देर शाम जबर्दस्त आंधी-तूफान आया। इसमें 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए और 13 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में चार अलवर , सात भरतपुर और दो धौलपुर के बताए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में भी आंधी तूफान के कहर से 10 लोगों की मौत हो गई। उधर पश्चिम बंगाल और झारखंड में वज्रपात से 15 लोगों की जान चली गई।

राजस्थान में प्रशासन राहत और बचाव कार्य में लगा है। पूरे अलवर में बिजली गायब है। जानकारी के अनुसार, अलवर में रात करीब पौने आठ बजे अंधड़ आया और पूरे अलवर, भरतपुर, धौलपुर इलाके में छा गया। इसकी गति इतनी तेज थी कि सड़क पर खड़े वाहन पलट गए। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बुधवार को दोपहर बाद तेज आंधी-तूफान के साथ ही बारिश भी हुई। सहारनपुर में बालिका सहित दो लोगों की मौत हो गई। बिजनौर में एक बच्चे और दो लड़कियों की मौत हो गई। संभल में भी एक व्यक्ति की मौत की खबर है। वहीं आगरा जिले में चार लोगों की मौत हो गई।

दिल्ली में 60 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से चली आंधी

तेज धूप और गर्मी से जूझ रहे दिल्लीवासियों को बुधवार की बदली फिजा ने खासी राहत दी। हालांकि पहले आंधी से परेशानी हुई, लेकिन बाद में बारिश ने सुहावने मौसम का अहसास करवाया। जानकारी के मुताबिक शाम 4:30 बजे के बाद 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी ने दिल्ली की रफ्तार थाम दी। सड़कों पर चल रहे ट्रैफिक को इसकी वजह से धीमा होना पड़ा।

दिल्ली में खराब मौसम का असर हवाई सेवा पर भी पड़ा। तेज हवा और बारिश की वजह से आइजीआइ एयरपोर्ट आ रही कई उड़ानों को आसपास के एयरपोर्ट के लिए डायवर्ट कर दिया गया। प्रभावित उड़ानों में कई विदेश से आने वाले विमान भी शामिल थे।

बंगाल में वज्रपात से आठ लोगों की मौत

पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में बुधवार को बारिश व आंधी के दौरान वज्रपात व दीवार गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई। जबकि कई लोग जख्मी को गए। आठ लोगों की मौत बिजली गिरने से, वहीं दो लोगों की मौत दीवार गिरने होने की खबर है। उधर झारखंड में मंगलवार और बुधवार को आंधी के बीच बेमौसम बारिश से रांची के आसपास के जिलों में जान-माल की क्षति हुई। वज्रपात से राज्य में सात लोगों की मौत हो गई।

पंजाब में बारिश, तूफान से पेड़ गिरे, दो की मौत

पंजाब में बुधवार को कई जिलों में तेज तूफान के साथ बारिश हुई। हालांकि, लुधियाना, जालंधर और अमृतसर शहर बारिश से अछूते रहे। इनके आसपास के क्षेत्रों में जमकर बारिश हुई। पटियाला व संगरूर में दिन में ही अंधेरा छा गया। पटियाला की रिशी कॉलोनी में एक प्लॉट की दीवार गिरने से प्लॉट मालिक हरमिंदर सिंह व एक श्रमिक राजू की मौत हो गई। बरनाला व रूपनगर में मंडियों में रखे गेहूं भीग गए।

चारधाम में बारिश से बढ़ी ठंड

उत्तराखंड में नैनीताल, अल्मोड़ा, देहरादून, हरिद्वार समेत प्रदेश के कई हिस्सों में शाम को धूल भरी आंधी के साथ बारिश हुई। उधर, बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमनोत्री में बारिश होने से श्रद्धालुओं को ठंड का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं हिमाचल प्रदेश में बुधवार को अधिकांश क्षेत्रों में बारिश दर्ज की गई जबकि कुछ क्षेत्रों में ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान पहुंचा। दूसरी ओर भीषण गर्मी से जूझ रहे जम्मू कश्मीर में बुधवार को कुछ जगहों पर धूल भरी आंधी और तेज बारिश के कारण थोड़ी राहत मिली।

चार धाम यात्रा बाधित

भारी बारिश के कारण कल शाम को उत्तराखंड में यात्रियों को केदारनाथ और सोनप्रयाग में रोका दिया गया। केदारनाथ और रुद्रप्रयाग में कल दिन 3 बजे से बिजली नहीं है। आंधी-तूफान की वजह से हाईवे पर पेड़ गिरे हैं, जिससे रास्ते बंद हो गए हैं।

बारिश के कारण जगह-जगह लैंडस्लाइड की भी खबर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *